राजनीति

गहलोत मंत्रिमंडल विस्तार की कवायद शुरू, 6 मंत्रियों की होगी छुट्टी, 12 मंत्री बनेंगे नए

सचिन पायलट बनेंगे राष्ट्रीय महासचिव

गहलोत मंत्रिमंडल विस्तार की कवायद शुरू, 6 मंत्रियों की होगी छुट्टी, 12 मंत्री बनेंगे नए, सचिन पायलट बनेंगे राष्ट्रीय महासचिव

दो साल बाद पहली बार होने वाले मंत्रिमंडल विस्तार में 6 पुराने मंत्रियों की छुट्टी और 12 नए मंत्री शामिल किए जा सकते हैं।
इस बार जातिगत आधार और क्षेत्रवाद को ध्यान में रखकर नए मंत्री बनाए जाने की कवायद तेज की जा रही है ।
इसके लिए दिल्ली में पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट और कांग्रेस के प्रभारी महासचिव अजय माकन के साथ बैठक होनी है, इसके बाद मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर कोई सूचना आ सकती है।
सूत्रों के मुताबिक राजस्थान में कांग्रेस मंत्रिमंडल का विस्तार नए साल में होगा!
मंत्रिमंडल विस्तार कर खुद को मंत्री बनाने के लिए कई विधायक लॉबिंग भी कर रहे हैं।
इसके लिए कुछ विधायक दिल्ली में माकन समेत अन्य वरिष्ठ नेताओं से मिल चुके हैं।
इससे पहले कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा प्रदेश प्रभारी अजय माकन से दिल्ली में मुलाकात कर चुके हैं। माना जा रहा है कि केंद्रीय नेतृत्व ने राजस्थान में कैबिनेट विस्तार करने के लिए अपनी सहमति दे दी है।
किसे बाहर होना है और किसे अंदर यह तस्वीर आने वाले दिनों में साफ हो जाएगी।

गहलोत मंत्रिमंडल में शामिल होने वाले संभावित विधायकों के नाम जिन पर मंथन जारी :-
बीएसपी छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए विधायक :
योगेंद्र सिंह अवाना , राजेंद्र गुढ़ा तथा माजिद अली
सचिन पायलट गुट विधायक :
दीपेंद्र सिंह शेखावत , विश्वेंद्र सिंह , रमेश मीणा , हेमाराम चौधरी , बिजेंदर ओला
पहली बार बने विधायक :

वेद प्रकाश सोलंकी, मुकेश भाकर

राहुल गांधी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के साथ ही सचिन पायलट को दिल्ली में संगठन में महासचिव की जिम्मेदारी दी जा सकती है!
उन्हें पार्टी किसी राज्य का प्रभारी भी बनाया जा सकता है!
मिली जानकारी के अनुसार सचिन पायलट अब पूरा फोकस अपने कार्यकर्ताओं, नेताओं और अपनी टीम को राजस्थान में सत्ता और संगठन में पर्याप्त जगह दिलवाने को लेकर रहेगा!
पायलट चाहते हैं कि वह केंद्र में कमजोर संगठन को मजबूत करने में और राहुल गांधी के साथ अपनी भूमिका अदा करें!
इसी वे आगामी विधानसभा चुनाव से पहले प्रदेश में कार्यकर्ताओं की एक ऐसी टीम खड़ी करना चाहते हैं!
जिसके बूते वे राजस्थान में फिर से वापसी कर सके!

सूत्रों के अनुसार, माकन ने सुलह का जो खाका तैयार किया है उसमें सचिन पायलट कैंप के विधायकों के अनुपात में पीसीसी की नई टीम में जगह के साथ-साथ राजनीतिक नियुक्तियों में तवज्जों और मंत्रिमंडल विस्तार में भी स्थान मिलने की पूरी उम्मीद है!
माना जा रहा है कि पीसीसी अध्यक्ष रहते हुए पार्टी को मजबूत करने वाले पायलट कैंप के नेताओं और कार्यकर्ताओं को पीसीसी की नई टीम और राजनीतिक नियुक्तियों में जगह मिलेगी!

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close