राजस्थान

सीकर हत्याकांड में प्रशासन से क्या-क्या हुई सहमति जानिए ?

2 दिनों पूर्व सीकर शहर के पिपराली रोड पर राजू ठेहट और नागौर के ताराचंद कड़वासरा की हुई हत्या के मामले में प्रशासन और परिजनों के बीच चली कई दौर की वार्ता के बाद देर रात वार्ता सफल हुई!
सांसद हनुमान बेनीवाल ने वार्ता के बाद पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि नागौर जिले के रहने वाले मृतक ताराचंद कड़वासरा की बेटी को अब मेडिकल में निशुल्क पढ़ाई करवाई जाएगी!
इसी के साथ राजू ठेहट के परिवार एवं इस हत्याकांड से जुड़े गवाहों को सुरक्षा प्रदान की जाएगी,साथ ही शहर के राधाकिशनपुरा के रहने वाले कैलाश सैनी जो इस फायरिंग में घायल हो गए थे, उनका निशुल्क इलाज चलेगा और 50 हजार राज्य सरकार की ओर से दिया जाएगा!
आपको बता दें कि 2 दिन पहले शहर के पिपराली रोड पर बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग की थी. जिसमें 52 राउंड फायर हुए इनमें राजू ठेठ वह नागौर के रहने वाले ताराचंद की मौत हो गई थी और कैलाश सैनी जो गाड़ी चलाने का काम करता है. घायल हो गया था. हत्याकांड के बाद दोनों के शव को राजकीय चिकित्सालय में रखवाया गया, जहां परिजनों व समर्थकों ने सबसे पहले अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग की थी. राजस्थान पुलिस ने इस हत्याकांड के बाद 24 घंटे में ही इस हत्याकांड से जुड़े पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था इसके बाद परिजनों ने परिवारों को सरकारी नौकरी, मुआवजे की मांग को लेकर शव को नहीं लिया था कल देर शाम शहर में तनाव का माहौल भी हो गया था और समर्थकों ने सड़क जाम कर दी थी हल्की झड़प भी पुलिस के साथ हुई थी देर रात कई दौर की वार्ता के बाद प्रशासन एवं समझौता समिति के बीच वार्ता सफल हुई और अब इनके दोनों के शवो का पंचनामा होगा. 2 दिनों से सीकर शहर बंद चल रहा था. इस हत्याकांड के बाद वीर तेजा सेना ने अनिश्चितकालीन बंद की घोषणा की थी,आज शहर खुल जाएगा!”

सीकर हत्याकंड में राज्य सरकार ने मृतक के परिजनों की जो मुख्य मांगे थी उन पर सहमती दे दी है, धरना देर रात खत्म।
मुख्य मांगे मानी गई…
1. स्व. ताराचंद कड़वासरा जी की पुत्री कोमिता कड़वासरा को एमबीबीएस के लिए सरकारी सीट आवंटित करने व निशुल्क शिक्षा ओर हॉस्टल सुविधा सरकार द्वारा उपलब्ध करवाई जाएगी।
2. पूरे मामले की एसआईटी जांच।
3 .ग्वाहो को 2-2 गनर व विशेष सुरक्षा सुविधाएं।
4 .पीड़ित परिवारों के घर 4 का जाप्ता रहेगा 24 घंटे जब तक ग्वाही नही हो जाती।
5 .सरकार से 5 लाख मुआवजा व इसके अतिरिक्त भी कोशिश रहेगी आर्थिक सहायता की।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close