UNCATEGORIZED

इतिहास विभाग में राष्ट्रीय सेमिनार के राजीव अरोड़ा रहे मुख्य अतिथि!

राजस्थान यूनिवर्सिटी के इतिहास विभाग में आज़ादी का अमृत महोत्सव के तहत राष्ट्रीय सेमिनार में मुख्य अतिथि के तौर पर राजस्थान लघु उद्योग निगम के चेयरमैन राजीव अरोड़ा ने शिरकत की!
संगोष्ठी के मुख्य अतिथि श्री राजीव राज ने कहा कि स्वतंत्रता आंदोलन में जननायकों के साथ महिलाओं ने माता
व पत्नी के रूप में अनेक कष्ट झेल कर उनके संघर्ष को गति दी! सरोजनी नायडू, सावित्रीबाई फुले, मैडम भीकाजी कामा आदि के योगदान का उल्लेख करते हुए भारतीय सभ्यता के इतिहास में महिलाओं के योगदान को महत्वपूर्ण बताया।

कार्यक्रम में स्वन्त्रता आंदोलन में राजपूताना राज्यों की महिलाओं के विस्मृत इतिहास पर चर्चा की गयी।
सेमिनार में राजस्थान यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो. राजीव जैन, श्रीमती संगीता शर्मा, विभाग अध्यक्ष कार्यक्रम सयोजक डॉ निक्की चतुर्वेदी, श्रीमती वंदना माथुर, अरुण शर्मा, सरदार जसबीर सिंह समेत राजस्थान के विभिन्न जिले से पधारें हुए प्रोफेसर व विद्यार्थी मौजूद रहें।

उद्घाटन सत्र में विभागाध्यक्ष प्रोफेसर संगीता शर्मा ने कहा कि इतिहास लेखन में स्त्रियों के योगदान को स्थान देकर हमें उनके अदृश्य विस्मृत योगदान को समाज के सामने रखना होगा!

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close