राजस्थान

राजस्थान में लोक डाउन हटना लगभग तय?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील के बाद राजस्थान में लोक डाउन हटना लगभग तय माना जा रहा है!
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन को अपना अंतिम हथियार बनाने की अपील की है !

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश का लॉकडाउन अंतिम हथियार होना चाहिए !
इससे देश में अराजकता था बेरोजगारी पैदा हो सकती है !

इससे पहले परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने भी लॉकडाउन लगाने का विरोध किया था !
परिस्थितियों को देखते हुए जिस प्रकार राजस्थान में व्यापारी लॉक डाउन का विरोध कर रहे हैं ! राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को लॉकडाउन हटाने के लिए बाध्य होना पड़ेगा तथा कल से ही प्रदेश भाजपा तथा व्यापारिक संगठन लॉकडाउन का पुरजोर विरोध करेंगे जिससे मुख्यमंत्री गहलोत को लॉकडाउन में कुछ संशोधन के साथ सख्ती को बढ़ाने के लिए कदम उठाने पड़ेंगे !
अब देखना यह होगा कि राजस्थान में व्यापारिक संगठन तथा प्रदेश भाजपा इस मुद्दे को किस तरह से उठाएगी !

देश में कोरोना के बिगड़ते हालात पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को संबोधित किया |
अपने संबोधन की शुरुआत करते हुए उन्होंने कहा, ‘कोरोना के खिलाफ देश आज फिर एक बहुत बड़ी लड़ाई लड़ रहा है।
कुछ हफ्ते पहले तक स्थिति संभली हुई थी। अब यह दूसरी लहर तूफान बनकर आ गई।
जो पीड़ा आप लोगों ने सही है, जो पीड़ा सह रहे हैं, उसका मुझे पूरा एहसास है। जिन लोगों ने बीते दिनों में अपनों को खोया है, मैं सभी देशवासियोंकी तरफ से उनके प्रति संवेदनाएं व्यक्त करता हूं।
परिवार के एक सदस्य के रूप में मैं आपके दुख में शामिल हूं।चुनौती बड़ी है, लेकिन हमें मिलकर अपने संकल्प, हौसले और तैयारी के साथ इसे पार करना है।’

मोदी ने कहा, ‘साथियो! अपनी बात को विस्तार देने से पहले मैं देश के सभी डॉक्टरों, मेडिकल-पैरा मेडिकल स्टाफ, सफाई कर्मी, एंबुलेंस के ड्राइवर, सुरक्षाबल, पुलिसकर्मी सभी की सराहना करूंगा।
आपने कोरोना की पहली लहर में भी अपना जीवन दांव पर लगाया था। आज आप फिर इस संकट में अपने परिवार, सुख और चिंताएं छोड़कर दूसरों का जीवन बचाने में दिन-रात जुटे हुए हैं।
हमारे शास्त्रों में कहा गया है कि कठिन से कठिन समय में भी हमें धैर्य नहीं खोना चाहिए।
किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए हम सही निर्णय लें, तभी हम विजय हासिल कर सकते हैं। इसी मंत्र को सामने रखकर आज देश दिन-रात काम कर रहा है।’

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close